पेयजल किल्लत और भ्रष्टाचार के खिलाफ कांग्रेस ने ज्ञापन सौंपा - Sri Narada News

पेयजल किल्लत और भ्रष्टाचार के खिलाफ कांग्रेस ने ज्ञापन सौंपा

Share This
ब्यूरो, बेगमगंज.
नगर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में भीषण पेयजल समस्या एवं पेयजल आपूर्ति में हो रहे भ्रष्टाचार को लेकर युवक कांग्रेस ने बस स्टैंड से तहसील तक जुलूस निकालकर महामहिम राज्यपाल के नाम का ज्ञापन तहसीलदार वृजेन्द्र रावत को सौंपकर एक सप्ताह में जल समस्या का समाधान करने का अल्टीमेटम दिया है। कांग्रेस ने कहा है कि, पेयजल की समस्या का समाधान नहीं होने पर उग्र आंदोलन किया जाएगा।

पेयजल किल्लत और भ्रष्टाचार के खिलाफ कांग्रेस ने ज्ञापन सौंपा
कांग्रेस नेताओं ने कहा कि सम्पूर्ण तहसील में ग्रीष्मकाल प्रारंभ होते ही भीषण जल संकट पैदा हो गया है। आमजन दो तीन किमी दूर से पानी भरकर लाने के लिए मजबूर है। लोग रतजगा कर नलों के आगे लम्बी लम्बी कतारे लगाकर पानी के इंतजार में खड़े रहते है। कई स्थानों पर पेयजल को लेकर लड़ाई झगड़े तक होने लगे है। ग्रामीण क्षेत्रों में पानी की समस्या के चलते पशुओं का पलायन शुरू हो गया है। नगर के 18 वार्डो सहित अनेकों गावों में पानी की समस्या विकराल रूप धारण कर चुकी है। ज्ञापन का वाचन अजय जैन ने किया एवं आभार पूर्व ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष राजेन्द्र तोमर ने जताया। इस मौके पर श्यामनारायण रावत एडवोकेट, नासिर नवाब, उदयराम यादव, उमाशंकर पांडे, सगीर अली, हनीफ मुंशी, अजहर पटेल, रफीक मंसूरी, वरूण पंथी, पृथ्वीसिंह, हलीम, आकाश, गोकुल साहू, विष्णु साहू, राजेन्द्र सिंह, नरेन्द्रसिंह मरखंडी, किशोरीलाल चौरसिया, प्रभुदयाल सहित अनेकों ग्राम वासी शामिल थे।

जलसंकट से प्रभावित हैं दर्जनों गांव
ग्राम भूरेरू, मंडला, हिनौतिया, झिरिया ब.गढ़ी, सुनेहरा, खैरी ता.चौका, बासांदेही, बढ़गवां, ढिमरोली, कोहनिया, हिनौतिया, नैन विलास, महुआ खेड़ाकला, पड़रियाराजाधार, सनेटी, ध्वाज, सुनवाहा, सुल्तानगंज, मरखंडी, झिरपानी, चांदामऊ बेलई, तिनसुआ, जसरथी, बारह, खिरेटी, खामखेड़ा, रमपुरा, मड़खेड़ा गुलाब, उदका, पदंरभटा, पिपिलिया सनगढ़ा, करहौला, नारायणपुर, बम्होरी सबूदार, मजगवांसानी, ढिलवार, मोदकपुर, बाकोंरी, कोकलपुर, सलैया, कंटगी, चौकाबखतसिंह, तुलसीपार, परसौरा आदि में भीषण जल संकट है।

बंद पड़ी हैं नल जल योजनाएं
ग्राम जसरथी, शाहपुर, मड़खेड़ा गुलाब, उदका, बिछुआ जागीर, उमरहारी, नैनविलास, मड़खेड़ा टप्पा, गेहूंरास आदि की नल जल योजनाएं बंद पड़ी है। नगरीय क्षेत्र में केन्द्र सरकार द्वारा करीब 16 करोड़ रुपए की राशि से पेयजल पूर्ति हेतु योजना एक वर्ष पूर्व स्वीकृत कर चुकी है लेकिन आज तक उसका क्रियान्वयन नहीं कराया गया है।







कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें