कर्मचारियों को मुख्यमंत्री आयुष्मान योजना से होगा वास्तविक लाभ - Sri Narada News

कर्मचारियों को मुख्यमंत्री आयुष्मान योजना से होगा वास्तविक लाभ

Share This

भोपाल। मध्य प्रदेश के कमर्चारियों एवं उनके परिवारों तथा सेवानिवृत्त कमर्चारियों के परिवारों को सामान्य उपचार हेतु बीमा योजना के अंतर्गत प्रतिवर्ष रुपए 500000 और गंभीर रूप उपचार के लिए 1000000 रुपए ने नि:शुल्क चिकित्सा तथा कमर्चारियों को ओपीडी सुविधा प्रदान करने हेतु वित्त विभाग द्वारा आदेश जारी किया गया था। परंतु जिस का क्रियान्वयन आज दिनांक तक नहीं हुआ है। वतर्मान समय में प्रदेश सरकार द्वारा पेंशनर को लगभग 15 करोड़ की निशुल्क दवाइयां एवं कार्यरत कमर्चारियों को लगभग 130 करोड़ चिकित्सा प्रतिपूर्ति एवं शासकीय अस्पतालों में निशुल्क दवाइयां प्रदान की जा रही है । 

इस बीमा योजना के अंतर्गत प्रदेश के लगभग 20 लाख से अधिक नियमित, संविदा, शिक्षक संवर्ग, सेवानिवृत्त कमर्चारी, नगर सैनिक, कायर्भारित, स्थाई कमर्चारी, राज्य के स्वशासी संस्थानों में  कार्यरत कमर्चारियों को सम्मिलित किया गया है , साथ ही निगम मंडलों में कार्यरत कमर्चारियों एवं अखिल भारतीय सेवाओं के अधिकारियों के लिए योजना वैकल्पिक रखी गई है।

इस योजना का क्रियान्वयन निरामय सोसाइटी के माध्यम से किया जाना है,  जिसके तहत सेवानिवृत्त कमर्चारी तथा अन्य कार्य अधिकारी एवं कमर्चारियों द्वारा उनकी वेतन एवं पेंशन से प्रतिमाह वेतन अनुसार रुपए 250 से रुपए 1000 मासिक अंशदान से राशि प्राप्त की जावेगी । मध्यप्रदेश राज्य कमर्चारी संघ के प्रदेश महामंत्री हेमन्त श्रीवास्तव ने मुख्यमंत्री से भेंट कर स्वास्थ्य बीमा शीघ्र लागू करने का अनुरोध किया । उनका कहना है कि वतर्मान समय में सेवानिवृत्त एवं नियमित अधिकारी कमर्चारियों पर जो राशि शासन द्वारा व्यय की जा रही है, उसकी आवश्यकता इस बीमा योजना को लागू करने पर नहीं पड़ेगी। कमर्चारियों को तुरंत उपचार सुविधा अनुसार शासकीय एवं प्राइवेट अस्पतालों से प्राप्त हो जाएगा। जिस प्रकार प्रधानमंत्री द्वारा संचालित आयुष्मान योजना के तहत लोगों को लाभ प्राप्त हो रहा है।

वतर्मान में कमर्चारियों को चिकित्सा प्रतिपूर्ति के रूप में परिवार के सदस्यों सहित राशि शासन से प्राप्त होती है, परन्तु आकस्मिक रूप से कमर्चारियों को राशि प्राप्त ना होने से आर्थिक कमी की वजह से कमर्चारी उपचार में परेशान होता है, बाद में भी अनेक व्यवहारिक कठिनाइयों के कारण चिकित्सा प्रति पूर्ति वास्तविक खर्च के अनुसार प्राप्त नही कर पाता । यदि स्वास्थ्य बीमा आयुष्मान कार्ड की तरह लागू होगा तो कमर्चारी शासकीय अस्पताल तथा शासन से मान्यता प्राप्त प्राइवेट अस्पतालों में तत्काल उपचार लाभ प्राप्त कर लेगा।

मुरारी लाल सोनी,

संभागीय अध्यक्ष, भोपाल संभाग, 

मध्य प्रदेश राज्य कमर्चारी संघ


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें