थाने गए पत्रकार को बेरहमी से पीटा.., पुलिस की वर्दी पहन कर बन गए गुंडा.. - Sri Narada News

थाने गए पत्रकार को बेरहमी से पीटा.., पुलिस की वर्दी पहन कर बन गए गुंडा..

Share This

बदेरा थाना प्रभारी राजेंद्र पाठक और पुलिस बल ने पीटा..

सतना। मैहर पत्रकारिता फिर खतरे में पड़ी थाना प्रभारी सहित समस्त पुलिस बल ने पत्रकार को बेरहमी से पीटा। दरअसल मामला सतना जिले के मैहर विधानसभा क्षेत्र बदेरा थाना का है जहां बताया जा रहा कि बाला प्रशाद साहू जो कि मैहर तहसील के स्थानीय पत्रकार है जोकि अपनी पत्रकारिता में मशहूर है ऐसी की कुछ खबरें प्रसारित की जो कि मैहर बदेरा थाना पुलिस की कमियों को उजागर कर रही थी।

जिससे बौखलाए थाना प्रभारी राजेन्द्र पाठक सहित सहयोगी पुलिस बल ने जबरजस्ती पहले तो थाने के अंदर ले गए। फिर वहां बेरहमी से पीटा जिसकी शिकायत पत्रकार द्वारा जिला के पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह यादव को दी गई है।

आप को बता दें कि कुछ ऐसे ही कृत्यों के कारण बदेरा थाना प्रभारी राजेन्द्र पाठक का बदेरा थाना से ट्रान्सफर पूर्व में रहे पुलिस अधीक्षक रियाज इकवाल के कार्यकाल में किया गया था। जो कि तकरीबन दो साल के बाद पाठक जी फिर से अपना कहर बरसाने बदेरा थाना पहुँच गए। बदेरा थाना क्षेत्र उद्योगों से घिरा हुआ थाना है साथ ही ग्रामीण आवादी वाले इस क्षेत्र में सीधे साधे लोग रहते है। जिन पर शासन करना बहुत ही आसान है।

सूत्रों की मानें तो उद्योगों के लिए होने वाले परिवान व माइंस से भी मिलीभगत कर अबैध रेत परिवहन ओभरलोड व अवैध माइनिंग भी संचालित होती है। लेकिन जब पत्रकार मामले को उजागर करता है तो उसके ऊपर झूंठे मुकदमे दायर व बेरहमी से पिटाई कर सलाखों के पीछे डाल दिया जाता। 

एक थाना प्रभारी के ऐसे कृत्य से समूचे पुलिस विभाग पर प्रशन चिन्ह लग रहा है जबकि समूचे मैहर व सतना जिले भर की पुलिस हर पत्रकार व आम जनमानस का एक सम्मान का दायरा बना कर कार्य करते है देखा गया कि सतना पुलिस अधीक्षक व मैहर एसडीओपी अपने कुसल नेतृत्व से हर पल बड़ी मेहनत कर सूझ बूझ से  हर केस को अन्जाम तक पहुंचाया व हर वक्त पत्रकारों से ताल मेल बना जानकारी को आदान प्रदान कर कार्यवाही करते हैं।

लेकिन कुछ ऐसे लोग भी है जो कानून अपने हाँथ लेकर ही पुलिसिंग करते है जिसके कारण समस्त पुलिस विभाग को बदनाम होना पड़ता है। ऐसे लोगों पर तत्काल कार्यवाही कर शिकंजा कसा जाए वरना पत्रकारिता के साथ साथ आम जनमानस भी बेबुनियादी कार्यवाही का शिकार होता रहेगा।

पीड़ित व्यक्ति ने यह भी जानकारी दी कि कल दिनांक 8,06,2021 को जब एसपी धर्मवीर सिंह यादव ने सतर्कता दिखाई तब कहीं जाकर पीड़ित की एमएलसी करवाई गई। सूचना जब से राजेंद्र पाठक को लगी है तब से वह कंप्रो माइज करने के लिए पीड़ित व्यक्ति के घर लगातार जा रहा है इस सारी घटना को लेकर पत्रकारों के बीच भारी आक्रोश है।

बाला प्रसाद साहू (आप बीती बताते हुए)

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें