भारत को गति, शक्ति देगा "गति शक्ति नेशनल मास्टर प्लान": प्रधानमंत्री मोदी - Sri Narada News

भारत को गति, शक्ति देगा "गति शक्ति नेशनल मास्टर प्लान": प्रधानमंत्री मोदी

Share This

भोपाल। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव में आत्म-निर्भर भारत के निर्माण के संकल्प के साथ हम अगले 25 वर्षों के भारत की बुनियाद रख रहे हैं। "पी.एम. गति शक्ति नेशनल मास्टर प्लान" भारत के इसी आत्म बल और आत्म-विश्वास को आत्म-निर्भरता के विजन तक ले जाने वाला है। यह प्लान 21वीं सदी के भारत  को गति एवं शक्ति देगा। "नेक्स्ट जनरेशन इन्फ्रास्ट्र-क्चर और मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी" से देश को गति शक्ति मिलेगी। अधोसंरचना से जुड़ी सरकारी नीतियों में योजना निर्माण से लेकर क्रियान्वयन कर तक को यह प्लान गति देगा। सरकार के प्रोजेक्ट समय-सीमा में पूरे हों, इसके लिए यह प्लान सही जानकारी और सटीक मार्ग-दर्शन प्रदान करेगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान आज प्रगति मैदान दिल्ली में आयोजित "प्रधानमंत्री गति शक्ति राष्ट्रीय मास्टर प्लान" कार्यक्रम में मिंटो हॉल, भोपाल से वर्चुअली सम्मिलित हुए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मिंटो हाल में राज्य स्तरीय "कॉन्फ्रेंस ऑन मल्ट इन्फ्रा-स्ट्रक्चर कनेक्टिविटी" का शुभारंभ भी किया। मिंटो हॉल में आयोजित कार्यक्रम में औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन मंत्री श्री राज्यवर्धन सिंह दत्तीगाँव, प्रमुख सचिव उद्योग श्री संजय शुक्ला सहित अन्य अधिकारी, उद्योगपति तथा व्यापार जगत के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कहा कि गति शक्ति के इस महाभियान के केन्द्र में भारत के लोग, भारत के उद्योग-व्यापार जगत, निर्माता, किसान और भारत के गाँव हैं। यह भारत की वर्तमान और आने वाली पीढ़ियों के लिए 21वीं सदी के भारत के निर्माण को नई ऊर्जा देगा और अवरोधों को दूर करेगा। आज 21वीं सदी का भारत सरकारी व्यवस्थाओं की पुरानी सोच को पीछे छोड़कर आगे बढ़ रहा है। आज का मंत्र है 'विल फॉर प्रोग्रेस, वर्क फॉर प्रोग्रेस, प्लान फॉर प्रोग्रेस, प्रिफ्रेंस फॉर प्रोग्रेस। अर्थात विकास की इच्छा-शक्ति, विकास के लिये कार्य, विकास के लिये योजना तथा विकास के लिए प्राथमिकता। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कहा कि हमने परियोजनाओं को तय समय-सीमा में पूरा करने का वर्क कल्चर विकसित किया है। इस मास्टर प्लान को आधार बनाकर गतिविधियाँ संचालित की जाएंगी। इससे गुणवत्तायुक्त अधोसंरचना के निर्माण तथा नई आर्थिक गतिविधियों का मार्ग प्रशस्त करेगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें