तेंदुआ ने दो बछड़ा को बनाया शिकार, दहशत में 3 गांव के ग्रामीण। - Sri Narada News

तेंदुआ ने दो बछड़ा को बनाया शिकार, दहशत में 3 गांव के ग्रामीण।

Share This

 

रायसेन। जिले के सलामतपुर थाना अंतर्गत आने वाले सतधारा स्तूप क्षेत्र के पास गांवों में तेंदुए की आहट से दहशत का माहौल है। तेंदुए ने दो बछडों को अपना शिकार बना लिया है। नरोदा गांव के निवासी महेन्द्र राजपूत ने बताया कि लगभग एक माह से तेंदुआ नरोदा, मुरलीखेड़ी व गाडरखेड़ी गांव में गाय के बछड़ों को अपना शिकार बना रहा है। तेंदुए ने नरोदा गांव के नवल सिंह व लाखन सिंह के एक एक बछड़े को अपना शिकार बनाकर खा लिया है। वहीं चंदन सिंह ने तेंदुए को नहर की पुलिया पर भी देखा था। तेंदुए की आहट से नरोदा, मुरलीखेड़ी व गाडरखेड़ी के किसान व रहवासियों में दहशत का माहौल पसरा हुआ है। स्थानीय ग्रामीण और किसान अब रात के समय घर से बाहर निकलने में घबरा रहे हैं। जबकि इस समय किसानों के खेतों में पानी चल रहा है। और उनको रात के समय भी खेतों में पानी देने के लिए जाना पड़ता है।

लोगों ने कहा कि हमने वन विभाग को भी सूचना दे दी है। लेकिन तेंदुए को पकड़ा नही गया है। इस संबंध में सलामतपुर वन विभाग के डिप्टी रेंजर लल्लन सिंह ने बताया कि सुकासेन के जंगल में रहने वाला तेंदुआ खाने के तलाश में सतधारा क्षेत्र तक पहुंच गया था। उस तेंदुए के पंजों के निशान सतधारा क्षेत्र में मिले हैं। लेकिन तेंदुआ अब नरोदा, मुरलीखेड़ी गांव में नही है। अब वह भरतीपुर जंगल क्षेत्र में पहुंच गया है। तेंदुआ को जब तक नही पकड़ा जा सकता है कि तब तक वह आदमखोर ना हो जाए। और जिन लोगों के बछड़ों को तेंदुआ खा गया है। उनको विभाग द्वारा पंचनामा बनाकर मुआवजा जिसमें अगर जानवर भैंस है तो बीस हज़ार रुपए, गाय है तो आठ से दस हज़ार रुपए देने का भी प्रावधान है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें