दो पक्षों में खूनी संघर्ष, घर-दुकानों में लगाई आग, पुलिस वाहनों पर भी पथराव - Sri Narada News

दो पक्षों में खूनी संघर्ष, घर-दुकानों में लगाई आग, पुलिस वाहनों पर भी पथराव

Share This

राजगढ़। जिले में दो पक्षों के बीच हुए विवाद ने खूनी संघर्ष का रूप धारण कर लिया, जमीनी विवाद के चलते पूरे गांव में तनाव फैल गया है, उपद्रवियों ने कुछ घरों और दुकानों को आग के हवाले कर दिया है। मामले को बढ़ता देख गांव में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है, इस दौरान उपद्रवियों ने पुलिस के वाहनों पर भी पथराव कर दिया। जानकारी के अनुसार जिला मुख्यालय से करीब १२ किलोमीटर दूर स्थित गांव करेड़ी में जमीनी विवाद ने भयंकर तूल पकड़ लिया है, इस विवाद के चलते दो पक्षों में जमकर मारपीट और आगजनी की घटना ने पूरे क्षेत्र में तनाव पैदा कर दिया है। उपद्रवियों ने पहले कुछ दुकानों और मकानों को आग लगा दी, इसके बाद एसडीएम और थाना प्रभारी के वाहनों पर भी पथराव कर दिया है। जिसके चलते गांव में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।

ये है मामला

दो पक्षों के बीच जमीन को लेकर विवाद चल रहा था, इसके चलते बुधवार को एक पक्ष द्वारा दूसरे को रोककर बात करना चाहा, लेकिन बातों बातों में कहासुनी हो गई, जिसमें बाद दोनों पक्षों में मारपीट होने से तनाव बढ़ गया, दोनों पक्षों में विवाद ने पारिवारिक तुल भी पकड़ा, पहले मारपीट के बाद में एक पक्ष ने दूसरे पक्ष के घर और दुकानों को आग के हवाले कर दिया, इसके बाद पथराव भी हुआ, जिसमें पुलिस के वाहन भी चपेट में आ गए, सूचना मिलने पर भारी पुलिस बल गांव में तैनात किया गया, बताया जा रहा है कि पुलिस दोनों पक्षों से चर्चा कर शांति व्यवस्था में जुटी है, गांव में आईजी इरशद वली भी पहुंच चुके हैं।

एसपी कलेक्टर सहित आठ थानों की पुलिस मौके पर

जिस तरह से सोशल मीडिया पर लगातार दो परिवारों के विवाद को सांप्रदायिक तनाव का नाम दिया जा रहा था। ऐसे में एसपी प्रदीप शर्मा और कलेक्टर हर्ष दीक्षित सहित अन्य अधिकारी तुरंत गांव के लिए रवाना हुए और जैसे ही वह गांव में पहुंचे उन्होंने तुरंत यहां वहां छुपे हुए लोगों को तितर-बितर करवाया। बाद में पूरा माहौल शांत हो गया। इस दौरान ना सिर्फ अधिकारी बल्कि 8 थानों की पुलिस गांव में लगाई गई।

फ्लैग मार्च निकाला

गांव में शांति बनाने को लेकर एक फ्लैग मार्च निकाला गया जिसमें कलेक्टर एसपी सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे कुछ गांव के गणमान्य लोगों को भी इसमें शामिल किया गया। एसपी प्रदीप शर्मा ने बताया कि गांव में पुलिस पहुंच गई थी और भीड़ को तितर बितर करते हुए विवाद को शांत किया। दोनों पक्षों के लोगों को बैठाकर शांति समिति की बैठक की जा रही है। अब गांव में शांति है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें